Call +91 9306096828

लोग सवाल पूछते हैं कि हम अपने पितरों को मानते हैं उनके लिए जो भी पूजा पाठ कर्मकांड आदि हैं सब हम करते हैं परंतु फिर भी हमारे घर में शांति और बरकत क्यों नहीं है। एक बात और है जो लोग पितरों को बिल्कुल नहीं मानते वह बिल्कुल सुखी हैं ऐसा क्यों होता है कि मानने वाले लोग ही अधिक परेशान रहते हैं।

पितरों को मानने वाले लोग ही क्यों परेशान रहते हैं

अब इसमें दो बातें हैं एक धारणा और दूसरी सच्चाई। कुछ लोग अपवाद हो सकते हैं परंतु यह पूरी तरह से सत्य नहीं है कि जो पितरों को नहीं मानता वह अधिक सुखी है या उस पर कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ता।

निस्वार्थ भाव से पितरों को संतुष्ट करें

मेरा सवाल यह है कि आप पितरों को मानते हैं तो उनसे क्या अपेक्षा रखते हैं? क्योंकि यदि आपको बदले में कुछ चाहिए तो आप जो कुछ कर रहे हैं वह विशेष नहीं है। यदि आप पितरों के नाम पर बिना कुछ मांगे थोड़ा बहुत दान पुण्य कर देते हैं तो इससे बहुत से लोगों का रोजगार जुड़ा है। नैतिक रुप से यह अत्यंत आवश्यक है। अब रही बात पितरों की उन्हें तो केवल आपकी श्रद्धा चाहिए आप थोड़ा समय निकालकर उनके प्रति अपना श्रद्धा भाव रखते हैं तो वह आपसे प्रसन्न रहते हैं। प्रसन्न होने पर आप भी किसी ना किसी को दुआ तो अवश्य देते होंगे बस यही सब होता है।

जो लोग पितरों को नहीं मानते

अब जो लोग इन्हें नहीं मानते तो यह पितृ गण उनके पास क्यों जाएं? मांगा उसी से जाता है जिससे मिलने की उम्मीद हो। आपको किसी ने बताया है कि आपको पितरों के लिए कुछ करना चाहिए तो यह संयोग नहीं है बल्कि किसी ना किसी के माध्यम से आपके पितरों ने ही करवाया है। अब किसी का टाइम अच्छा चल रहा है तो यह उसके अपने शुभ  कर्मों का फल है। कोई मेहनत करके तरक्की कर जाता है तो कोई देवताओं से मदद लेकर आगे बढ़ना चाहता है आप ही यह सुनिश्चित करें कि आपको कौन सा मार्ग चुनना है।

अच्छे और बुरे पितर

अनुभव के आधार पर कह रहा हूं कि यदि आप अपने पितरों के लिए नियमित रूप से या वार्षिक मासिक पाक्षिक रूप से दान पुण्य वगैरा करते रहते हैं तो भी इसकी कोई गारंटी नहीं कि भूत प्रेत आपको परेशान ना करें। क्योंकि जिनके पास शरीर नहीं होता वे भूत प्रेत पितर या आत्माएं अकेले नहीं रहते उनके साथ कुछ और भी सदस्य होते हैं जो अच्छे और बुरे दोनों हो सकते हैं। आपके पिता हमेशा आपका अच्छा चाहते हैं और बुरी आत्माओं से आपकी रक्षा करते हैं परंतु यदि फिर भी आपको कोई समस्या आ रही है तो उसके भी उपाय होते हैं उसका भी समाधान हो जाता है। बस अपने पितरों को दोष देना बंद करें।

GuruVedic Free Predictions

 

Verification