Call +91 9306096828

वैदिक ज्योतिष के अनुसार सही सबजेक्ट का चुनाव करना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना व्यवसाय का चुनाव करना। बच्चों की सफलता के लिए समय रहते आपको यह निर्णय करना होता है की आपका बच्चा आगे चलकर क्या बनेगा या क्या करेगा। ज्योतिष इस संदर्भ मे मदद कर सकता है।

यदि गरीब घर में जन्म हो तो क्या करें? जल्दी तरक्की करने के लिए क्या करें? अपने बच्चे को सफल कैसे बनाएं? किस कार्य में सफलता मिलेगी? यह कुछ ऐसे सवाल हैं जिंका हम इस पोस्ट मे विश्लेषण करेंगे। इस आर्टिकल को समझने के लिए आपको ज्योतिष की बेसिक जानकारी की भी आवश्यकता नहीं है


काक चेष्टा कहानी
श्लोक भावार्थ
कौए की कहानी

बच्चे का दृष्टिकोण

सबसे जरूरी होती है इंसान का दृष्टिकोण क्योंकि यही से शुरुआत होती है उन्नति की। यदि आपका बच्चा महत्वकांक्षी है तो फर्क नहीं पड़ता कि गरीब घर में जन्म हुआ मिडिल क्लास में या अमीर घराने में पैदा हुआ। वह अपनी राह स्वयं ही खोज लेगा। आवश्यकता होगी ऐसे अभिभावकों की जो ग्रहों की चाल को समझते हुए निर्धारण करें कि कौन से सब्जेक्ट उसके लिए सबसे अधिक उपयुक्त रहेंगे? क्योंकि कभी-कभी अमीर घर में पैदा हुए बच्चे भी पूरी उम्र माता-पिता पर आश्रित रहते हैं। ऐसा बहुत बार देखा गया है।

आइए अब चर्चा करते हैं ग्रहों के अनुसार बच्चे के लिए कौन से सब्जेक्ट महत्वपूर्ण होंगे जिनमें आपका बेटा शीघ्रता से चीजों को समझेगा

प्रबल सूर्य के अनुसार विषय

यदि आपके बच्चे का सूर्य बलवान है तो निश्चित तौर पर आपका बच्चा किसी के नीचे काम करना पसंद नहीं करेगा इसके लक्षण के रूप में आपको अपने बच्चे में नीचे दिए गुण देखने को मिलेंगे
महत्वकांक्षी और निर्देशन

आपके बच्चे के लिए एमबीए या फिर बिजनेस से जुड़े सब्जेक्ट महत्वपूर्ण रहेंगे उसी के अनुसार बच्चे की तैयारी करवाएं।

चंद्रमा के अनुसार बच्चे के विषय का चुनाव

यदि आपके बच्चे की कुंडली में चंद्रमा बलवान है तो आपका बच्चा पार्ट्स क्रिएटिविटी और संगीत डांस आदि में अधिक रूचि लेगा। इसके लक्षण है छोटी उम्र में बड़े आइडिया या कलाकारी का प्रदर्शन।

इसके लक्षण हैं अनेक कार्यों में दक्षता मन की बात को जान लेना दूरदर्शिता और अतींद्रिय ज्ञान
यदि यह गुण आपके बच्चे में है तो उसे आर्ट कला संगीत मनोरंजन एक्टिंग आदि के लिए प्रेरित करें

प्रबल मंगल और विषय का चयन

यदि आपके बच्चे का मंगल बलवान है तो किसी भी कार्य में पहल करना और सबसे आगे रहना उसका स्वभाव होगा इसके लक्षण हैं नेतृत्वशीलता जुझारूपन जोश और जुनून

पुलिस सेना या नेवी के लिए अपने बच्चे को उचित शिक्षा दें इसके अतिरिक्त फिटनेस स्पोर्ट्स और पॉलिटिक्स यह सब सब्जेक्ट उसे आकर्षित करेंगे।

प्रबल बुध और विषय का चयन

यदि आपके बच्चे का बुध बलवान है तो उसका गणित जबरदस्त होगा कम बोलना अधिक सुनना और जब बोलना तर्क के साथ बोलना उसका गुण होगा। अपने बच्चे को अकाउंट और बिजनेस के क्षेत्र में विशेष शिक्षा दें। शेयर मार्केट, जीवन बीमा और मार्केटिंग सेल्स आदि के लिए प्रेरित करें।

प्रबल बृहस्पति और विषय

यदि बृहस्पति बलवान हो तो बच्चा बड़ों की तरह बात करेगा जिम्मेदारियों को महसूस करेगा संतोष और तर्क उसके गुण होंगे और विज्ञान में रुचि लेगा धार्मिक कार्यों में संलग्न रहेगा।

आपका बच्चा एक सफल मैनेजर शिक्षक प्रशासक या गजेटेड ऑफिसर बन सकता है। ऐसा बच्चा बहसबाजी में किसी को जीतने नहीं देगा इसलिए वकील या कोर्ट कचहरी के कार्यों में अधिक दक्षता से काम करेगा।

प्रबल शुक्र से विषय चयन

यदि आपके बच्चे का शुक्र बलवान है तो बचपन से ही अपने लुक की ओर अधिक ध्यान देगा

उसका हर काम स्टाइलिश होगा और एक्टिंग डांस मनोरंजन संबंधी कार्यों में दूसरों से अधिक अच्छा प्रदर्शन करेगा। कंप्यूटर मे भी डिजाइन की और अधिक आकर्षण होगा। उत्तरोत्तर उसकी दक्षता बढ़ती चली जाएगी। ऐसे बच्चे को फैशन आर्ट एंटरटेनमेंट गारमेंट्स या फिर सौंदर्य संबंधी कार्यों के लिए उचित शिक्षा दिलाएं।

प्रबल शनि से विषय का चुनाव

यदि आपके बच्चे का शनि प्रभावशाली है तो मशीन को खोल कर देखना तथा तकनीकी कार्यों में अधिक रूचि दिखाना उसकी आदतों में शुमार होगा। प्रोग्रामिंग और रिसर्च में उसकी रुचि होगी आप अपने बच्चे को कंप्यूटर प्रोफेशनल या इंजीनियर बनने के लिए प्रेरित कर सकते हैं

राहू प्रबल है तो बच्चे के लिए कौन से विषय का चुनाव करें

यदि आपके बच्चे का राहु अधिक बलवान है तो पैसों को संभाल कर रखना सरप्राइस देना कठिन कार्यों को समझने की कोशिश करना उसके प्रमुख गुण होंगे ऐसे बच्चे को शेयर मार्केट फाइनेंस फिल्म इंडस्ट्री पत्रकारिता तथा विज्ञान और इंटेलिजेंस संबंधी शिक्षा दिलाना तर्कसंगत रहेगा

केतू प्रबल है तो विषय का चुनाव

यदि आपके बच्चे का केतु अधिक बलवान है तो अपने से बड़े और अजीब दोस्तों के साथ अधिक दोस्ताना रहेगा। बिजली से संबंधित कार्यों में अधिक रूचि लेगा। ज्योतिष और गूढ़ विज्ञान में उसकी अधिक दिलचस्पी होगी। उसकी उपलब्धियों पर आपको देर से पता चलेगा। ऐसे बच्चे को इंटेलिजेंस धर्म साहित्य और जीव विज्ञान पर्यावरण तथा ज्योतिष आदि की शिक्षा देना तर्कसंगत रहेगा

आवश्यक निर्देश

ऊपर दिए गए तथ्य हमारे स्वयं के अनुभव पर आधारित हैं जिनमें परिस्थितियोंवश आमूलचूल परिवर्तन संभव है। हर बच्चे की अपने ग्रह होते हैं यह सच है परंतु कभी-कभी एक से अधिक ग्रह बलवान होते हैं उस अवस्था में यह देखना अनिवार्य हो जाता है कि एक से अधिक ग्रहों के अनुसार बच्चा बड़ा होकर क्या बनेगा। अधिक जानकारी के लिए परामर्श लें और अपने बच्चे का उज्जवल भविष्य सुनिश्चित करें

GuruVedic Free Predictions

 

Verification


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *